Breakup Shayari- ब्रेकअप शायरी

Breakup Shayari- ब्रेकअप शायरी

काश.. मोहब्बत भी मौत की तरह होती,सबको एक बार मिलती तो सही..

वो कहता है, तेरा दर्द कैसे समझूँ .? ? मैंने कहा, इश्क़ कर, बहुत कर, और इतना कर के हार जा…

बदल गया वक़्त बदल गयी बातें, बदल गयी मोहब्बत कुछ नहीं बदला, तो वो है इन आँखों की नमी और तेरी कमी !!

मेरे अलावा किसी और को अपना इश्क़ बना कर देख ले,तेरी हर धड़कन कहेगी उसकी वफ़ा में कुछ और बात थी !!

यूँ तो मुझे किसी के भी छोड़ जाने का गम नहीं, बस कोई ऐसा था जिससे ये उम्मीद नहीं थी !!

हम तो जल गये तेरी मोहब्बत में मोम की तरह, अगर फिर भी हम बेवफ़ा हैं तो तेरी वफ़ा को सलाम !!

दर्द नसीब से मिलता है मेरी जान, औक़ात कहाँ है तेरी मुझे तड़पाने की !!

चुपके से गुजार देंगे जिंदगी नाम तेरे, लोगों को फिर बताएंगे प्यार ऐसे भी होता है !!

Breakup Shayari- ब्रेकअप शायरी

छोड़ दो किसी से वफा की आस ऐ दोस्त, जो रूला सकता हैं वो भुला भी सकता हैं !!

मौत आई तो क्या मैं मर जाऊँगा,? मैं तो इक दरिया हूँ जो समंदर में मिल जाऊँगा !!

यू पलटा मेरी किस्मत का सितारा मेरे दोस्तो उसने भी छोड़ दिया और अपनों ने भी !!

कई बार ये सोच के दिल मेरा रो देता है कि तुझे पाने की चाहत में मैंने खुद को भी खो दिया !!

बेगाना हमने नहीं किया किसी को जिसका दिल भरता गया वो हमें छोड़ता गया !!

राहें-उल्फ़त में रखा था नादान दिल मेरा तुम मसलके चल दिये मैंने उफ़ भी न की !!

तूने तो कह दिया अब तेरा मेरा कोई वास्ता नहीं हैं फिर भी अगर तू आना चाहे तो रास्ता वही हैं !!

Leave a Comment